ज्वालामुखी विस्फोट से विलुप्त नहीं हुए निएंडरथल मानव

By: | Last Updated: Sunday, 4 January 2015 9:06 AM
New study refutes theory that a volcano wiped out the Neanderthals

फ़ाइल

वाशिंगटन: निएंडरथल मानवों के विलुप्त होने के पीछे ज्वालामुखी विस्फोट के कारणों को नकारते हुए नए अध्ययन में कहा गया है कि हमारे पूर्वज पर्यावरण संबंधी बदलाव से निपटने के लिए पर्याप्त सक्षम थे. निएंडरथल 35-41 हजार साल पहले विलुप्त हो गए, जिसका कारण अभी तक अज्ञात है.

 

लगभग 40 हजार साल पहले इटली में हुए ज्वालामुखी में भयानक विस्फोट के बाद वातावरण नाटकीय तौर पर ठंडा हो गया था.

 

लाइव साइंस ने बर्कले स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में भूवैज्ञानिक तथा सह लेखक बेंजामिन ब्लैक के हवाले से कहा, “ज्वालामुखी में विस्फोट से पहले ही निएंडरथल का विलुप्त होना शुरू हो गया था. हो सकता है कि विस्फोट के वक्त कुछ आबादी बिखरी हुई हो और इस बारे में यह कहना मुश्किल है कि उसी के कारण वे विलुप्त हो गए.”

 

अध्ययन के बाद ब्लैक तथा उनके दल इस नतीजे पर पहुंचे कि विस्फोट के बाद तापमान में मुश्किल से पांच से 10 डिग्री सेल्सियस की कमी आई होगी.

 

यह अध्ययन सैन फ्रांसिस्को में अमेरिकन जियोफिजिकल यूनियन की हाल में हुई सालाना बैठक के दौरान पेश किया गया.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: New study refutes theory that a volcano wiped out the Neanderthals
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Neanderthal Study theory volcano wiped out
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017