nigeria:

nigeria:

By: | Updated: 23 Feb 2015 07:07 AM

कानो (नाइजीरिया): नाइजीरिया के उत्तर पूर्वी क्षेत्र में एक छोटी बच्ची के आत्मघाती हमले में सात लोगों की मौत हो गई जबकि राष्ट्रपति गुडलक जोनाथन ने माना कि उनकी सरकार ने शुरू में इस्लामी चरमपंथी समूह बोको हराम को कम आंका था.

 

हमला योबो राज्य की वाणिज्यक राजधानी पोटिसकुम के बाजार में हुआ. फिदायी हमलों में बच्चों के इस्तेमाल का यह ताजा मामला है. पहले चश्मदीदों और अस्पताल सूत्रों ने मरने वालों की संख्या छह बताई थी, जिसमें फिदाई लड़की और पांच अन्य शामिल थे, लेकिन पोटिसकुम के सरकारी अस्पताल के मेडिकल सूत्रों ने बताया कि दो घायलों की भी मौत हो गई.

 

पिछले हमलों के लिए भी बोको हराम को दोषी ठहराया गया है. एक स्थानीय सजग नेता बुबा लवन ने बताया कि विस्फोट में 19 लोग जख्मी हुए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था. नाइजीरिया में 28 मार्च को राष्ट्रपति और संसदीय चुनाव होने है, लेकिन यह विस्फोट दर्शाता है कि यह देश गंभीर सुरक्षा चुनौतियों का सामना कर रहा है.

 

राष्ट्रपति गुडलक जोनाथन 2011 से पद पर हैं और उनका पूर्व सैन्य शासक मोहम्मदु बुहारी के साथ कड़ा चुनाव प्रचार चल रहा है. पहले मतदान 14 फरवरी को होना था, लेकिन इसे छह हफ्तों के लिए टाल दिया गया और नाइजीरिया की सेना को देश को सुरक्षित करने का और वक्त दिया गया है.

 

कल प्रकाशित हुए एक साक्षात्कार में जोनाथन ने माना कि उन्होंने पहले बोको हराम को कम आंका था जिन्होंने उत्तर पूर्व की पट्टी पर कब्जा कर लिया है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest World News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ट्रूडो की भारत यात्रा: कनाडा में सिख कट्टरपंथियों का मुद्दा उठा सकता है भारत