NSA के इंटरनेट निगरानी कार्यक्रम का बोर्ड ने किया समर्थन

By: | Last Updated: Thursday, 3 July 2014 2:48 AM

नई दिल्ली: राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा नियुक्त किए गए सदस्यों से युक्त एक बोर्ड ने राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) के निगरानी कार्यक्रमों का समर्थन किया है. एनएसए के निगरानी कार्यक्रमों से जुड़ी सूचनाएं लीक होने के बाद से इन पर दुनिया भर में खासा विवाद पैदा हुआ है.

 

हालांकि, बोर्ड ने एनएसए के निगरानी कार्यक्रमों का समर्थन करते हुए यह भी कहा कि इसके कुछ पहलु निजता संबंधी चिंताएं पैदा करते हैं.

 

नई रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के भीतर एनएसए द्वारा इंटरनेट पर उपलब्ध आंकड़ों को इकट्ठा करना संवैधानिक कसौटियों पर खरा उतरता है और इसमें ऐसे ‘‘वाजिब’’ सुरक्षा उपाय किए गए हैं जिनसे अमेरिकियों के अधिकारों की रक्षा होती है.

 

इस रिपोर्ट पर पांच सदस्यीय बाइपार्टिसन प्राइवेसी एंड सिविल लिबर्टीज ओवरसाइट बोर्ड को वोट करना था. बोर्ड ने पहली बार जनवरी में एनएसए के निगरानी कार्यक्रम का बारीकी से अध्ययन किया था और अपनी रिपोर्ट में कहा था कि एसएसए द्वारा घरेलू कॉल रिकॉर्ड के संग्रहण में कानूनी कवच की कमी है और इसे बंद कर दिया जाना चाहिए. पर अपने ताजा अध्ययन में इसने एनएसए के कार्यक्रम के प्रति विपरीत रूख अपनाया है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: NSA_america_obama
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017