रक्षा मंत्री पर्रिकर के आतंकी के बदले आतंकी वाले बयान पर भड़का पाकिस्तान

By: | Last Updated: Sunday, 24 May 2015 2:25 AM

इस्लामाबाद/नई दिल्ली: पाकिस्तान ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के इस बयान पर गंभीर चिंता प्रकट की कि आतंकवादियों के माध्यम से ही आतंकवादियों का सफाया किया जा सकता है. पाकिस्तान ने कहा कि इस बयान से आतंकवाद में भारत के शामिल होने की आशंका की पुष्टि होती है.

 

विदेश मामलों पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज ने कहा, ‘‘यह बयान केवल पाकिस्तान में आतंकवाद में भारत के शामिल होने की पाकिस्तान की आशंकाओं की पुष्टि करता है.’’ विदेश कार्यालय द्वारा जारी बयान में अजीज के हवाले से कहा गया है, ‘‘पहली बार ऐसा होगा कि किसी निर्वाचित सरकार का कोई मंत्री किसी दूसरे देश या उसके सरकार से इतर तत्वों से पनपने वाले आतंकवाद को रोकने के नाम पर उस देश में आतंकवाद के इस्तेमाल की खुलकर वकालत करता हो.’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान गंभीरता से भारत के साथ अच्छे पड़ोसी के रिश्ते रखने की नीति का पालन करता है.

 

अजीज ने कहा, ‘‘आतंकवाद हमारा साझा शत्रु है और इस समस्या को हराने के लिए मिलकर काम करना दोनों देशों के लिए महत्वपूर्ण होगा जिससे पाकिस्तान ने दूसरे किसी देश से बहुत ज्यादा परेशानी झेली है.’’ पर्रिकर ने गुरूवार को आतंकवादियों के जरिये ही आतंकवादियों को समाप्त करने पर जोर देते हुए कहा था कि भारत किसी विदेशी धरती से रचे गये 26-11 के तरह के हमलों को रोकने के लिए अग्रसक्रियता से कदम उठाएगा.

पर्रिकर ने कहा था, ‘‘कई चीजें हैं, जिन पर मैं यहां वाकई बात नहीं कर सकता. लेकिन अगर पाकिस्तान ही क्यों, कोई दूसरा देश भी मेरे देश के खिलाफ कुछ साजिश रच रहा है तो हम निश्चित रूप से कुछ अग्रसक्रिय कदम उठाएंगे.’’

 

मंत्री ने हिंदी मुहावरा ‘कांटे से कांटा निकालना’ का भी इस्तेमाल किया और पूछा कि आतंकवादियों को समाप्त करने के लिए भारतीय सैनिकों का इस्तेमाल क्यों किया जाए.

 

क्या था पर्रिकर का बयान?

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने बहुत बड़ा बयान देते हुए कहा था कि आतंकियों को मारने के लिए आतंकी बनने में बुराई क्या है. पर्रिकर ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में इसके लिए पैसे देकर आतंकी बनाने की वकालत भी की थी.

पर्रिकर के मुताबिक, ”पैसे के लालच और आर्थिक बदहाली की वजह से ही आदमी आतंकी बनाए जाते हैं, उन्हें आतंकवाद के लिए पैसे मिलते हैं. अगर इस तरह ही लोग आतंकी बनते हैं, तो हम उनका इस्तेमाल क्यों नहीं कर सकते?.”

 

इसके साथ ही पर्रिकर ने कहा कि, ”आतंकियों के खिलाफ आतंकियों का इस्तेमाल करने में बुराई क्या है? हमेशा हमारे सैनिक ही आतंकियों को क्यों मारें?”

आतंक के खिलाफ आतंकी बनाएंगे- पर्रिकर 

आतंकियों के खिलाफ हमारी रणनीति की प्राथमिकता पहले उन्हें पहचानने और फिर बेअसर करने की है. आतंकियों को मारने के लिए खुफिया जानकारियां जुटाई जा रही हैं.

 

संबंधित खबरें-

दुनिया के सबसे ठंडे युद्धक्षेत्र सियाचिन पहुंचे रक्षा मंत्री 

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का बहुत ब़ड़ा बयान, कहा-आतंकियों को मारने के लिए आतंकी बनाने में बुराई क्या, पैसे देकर आतंकी बनाने की वकालत 

सरकार की शीर्ष प्राथमिकता में शामिल है वन रैक वन पेंशन: मनोहर पर्रिकर 

 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pak_on_parirkar_statement
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017