इमरान, कादरी ने नवाज शरीफ सरकार के खिलाफ मार्च शुरू किया

By: | Last Updated: Thursday, 14 August 2014 3:20 PM

लाहौर/इस्लामाबाद: पाकिस्तान के आम चुनाव में कथित धांधली को लेकर नवाज शरीफ सरकार को बेदखल करने की मांग करते हुए आज हजारों प्रदर्शनकारियों ने लाहौर राजधानी इस्लामाबाद की ओर अपना मार्च आरंभ किया. इस स्थिति में राजनीतिक अस्थिरता और सेना के दखल की आशंका बढ़ गई है.

 

इमरान खान और कनाडा के निवासी धार्मिक नेता ताहिर-उल-कादरी के नेतृत्व वाले दो समूहों में प्रदर्शनकारी इस्लामाबाद जा रहे हैं. वे इस्लामाबाद में साथ मिलकर नवाज शरीफ सरकार पर जल्द चुनाव कराने के लिए दबाव बनाएंगे. पिछले साल हुए आम चुनाव में शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन की जीत हुई थी.

 

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता ने लाहौर के जमां पार्क से ‘आजादी मार्च’ की शुरूआत की तो इसी शहर के मॉडल टाउन इलाके से कादरी के नेतृत्व में ‘इंकलाब मार्च’ निकला.

 

इमरान और कादरी आधिकारिक तौर पर सहयोगी नहीं हैं, हालांकि दोनों शरीफ सरकार को बेदखल किए जाने की मांग कर रहे हैं.

 

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रदर्शनकारियों में महिलाएं और बच्चे शामिल हैं. इमरान खान ने कहा, ‘‘आप लोग इस मार्च में मेरे के लिए नहीं, बल्कि अपने बच्चों के लिए शामिल हों. अगर अब पाकिस्तान में असली आजादी चाहते हैं तो इस मार्च का हिस्सा बनिए.’’ वह पिछले साल के आम चुनाव में हुई कथित धांधली के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं.

 

इस्लामाबाद के लिए रवाना होने से पहले इमरान खान ने प्रदर्शनकारियों का आह्वान किया कि वे ‘नए पाकिस्तान’ के लिए उनके साथ इस्लामाबाद चलें.

 

उन्होंने कहा, ‘‘आजादी पाने के लिए लड़ना पड़ता है. हम इस्लामाबाद पहुंचने के बाद नए पाकिस्तान की बुनियाद रखेंगे.’’ पहले हिचकिचाहट के बाद सरकार ने कादरी के समर्थकों को लाहौर के मॉडल टाउन के इलाके से रवाना होने की इजाजत दी.

 

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि यह बड़ा घटनाक्रम है क्योंकि सरकार ने शुरू में कादरी को जुलूस निकालने की इजाजत देने से इंकार कर दिया था. कादरी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘इंकलाब मार्च मॉडल टाउन से रवाना हो रहा है. मैं देश को जश्न-ए-आजादी की मुबारकबाद देता हूं. इंकलाब मार्च से इस देश के दीन-दुखियों को लोकतांत्रिक और संवैधानिक अधिकार मिलेगा.’’ उन्होंने अपने इस मार्च के लक्ष्यों का खुलासा करते हुए कहा कि इस मार्च का मकसद देश में लोकतंत्र को बहाल करना और गरीबी दूर करना है.

 

कादरी ने चुनाव सुधारों की मांग करते हुए कहा कि यह उनके इंकलाब का बुनियादी मकसद है.

 

सरकार ने इन प्रदर्शनों को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए हैं. इस्लामाबाद के कई हिस्सों में मोबाइल फोन सेवाओं और वायरलेस इंटरनेट सेवाओं को अनिश्चितकाल के लिए निलंबित कर दिया गया है.

 

इसके अलावा इस्लामाबाद राजधानी क्षेत्र में पुलिस के लगभग 5 हजार और अर्धसैन्य बलों के हजारों जवान तैनात किए गए हैं.

 

इन विरोध प्रदर्शनों से निपटने की तैयारी करते हुए शरीफ की सरकार ने राजधानी को एक किले के रूप में बदल दिया है. राजधानी को बड़े-बड़े अवरोधकों (शिपिंग कंटेनरों), कंटीले तारों और गहरे गड्ढों की मदद से सील कर दिया गया है.

 

इस्लामाबाद में लगभग हर प्रवेश स्थल को पुलिस बल और अर्धसैन्य बलों के करीब 25 हजार जवानों ने अवरूद्ध कर रखा है ताकि सरकार-विरोधी प्रदर्शनकारियों को राजधानी में प्रवेश से रोका जा सके.इस्लामाबाद में सरकार संविधान के अनुच्छेद 245 का इस्तेमाल करते हुए सेना को बुला चुकी है. इस अनुच्छेद के तहत सरकार प्रशासन में मदद के संदर्भ में सैन्य बलों को तलब कर सकती है. इमरान और कादरी ने भरोसा दिलाया है कि वे शांति कायम रखेंगे और कानून-व्यवस्था के लिए मुश्किल हालात पैदा नहीं करेंगे. उनके इस आश्वासन के बावजूद ऐसी आशंका है कि कोई भी अप्रिय घटना बड़े संकट का रूप ले सकती है तथा सेना के दखल देने का रास्ता भी खुल सकता है.

 

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों ने सरकार को सूचित किया है कि अगर कादरी के समर्थकों को रोका गया को हिंसा हो सकती है.

 

एक रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘कादरी पुलिस घेरे को तोड़ने के लिए महिलाओं और बच्चों को मानव कवच के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं.’’ पंजाब के गवर्नर चौधरी सरवर ने पीटीआई से कहा, ‘‘डॉक्टर कादरी ने भरोसा दिया है कि उनके समर्थक शांतिपूर्ण रहेंगे. इसके बाद हमने उन्हें मार्च की इजाजत दी है.’’ उन्होंने कहा कि पकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ और पाकिस्तान अवामी तहरीक के कार्यकर्ताओं को इस्लामाबाद बे ‘रेड जोन’ में धरना करने की इजाजत नहीं दी जाएगी.

 

पाकिस्तान अवामी तहरीक के प्रवक्ता काजी फैज ने कहा कि सरकार ने यह जानने के बाद मार्च की इजाजत दी कि कादरी के समर्थकों को इस्लामाबाद जाने से रोका नहीं जा सकता.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pakistan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017