नवाज शरीफ ने प्रदर्शन को नाजायज कहा, इमरान खान ने दी राष्ट्रव्यापी चक्का जाम की चेतावनी

By: | Last Updated: Monday, 25 August 2014 3:04 AM

इस्लामाबाद: विपक्ष के नेता इमरान खान द्वारा प्रधानमंत्री से 30 दिनों के लिए इस्तीफा देने और 2013 में हुए आम चुनावों में हुई कथित धांधली की जांच कराने की मांग करने के बाद नवाज शरीफ ने आज कहा कि प्रदर्शनों को जायज नहीं ठहराया जा सकता क्योंकि उन्होंने प्रदर्शनकारियों की सभी संवैधानिक मांगों को मान लिया है जबकि दूसरी ओर खान ने राष्ट्रव्यापी चक्का जाम की चेतावनी दी है.

 

इस्तीफे पर खान की मांग के बाद सार्वजनिक तौर पर पहली प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री शरीफ ने कहा, ‘‘अपनी उर्जा प्रदर्शन में गंवाने के बजाए प्रदर्शनकारियों को देश की प्रगति और विकास में अपनी भूमिका निभानी चाहिए.’’ पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ और नेशनल एसेम्बली के सदस्य हम्जा शाहबाज के साथ बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि धरने पर बैठे लोगों की मांगों में शामिल सभी संवैधानिक मांगें सरकार द्वारा स्वीकार कर लिए जाने के बाद प्रदर्शन को जायज नहीं ठहराया जा सकता.

 

पिछले साल के कथित चुनावी कदाचार की स्वतंत्र जांच के लिए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से 30 दिन के लिए अपने पद से हटने की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रदर्शनकारियों की मांग सरकार की ओर से ठुकरा दिए जाने के कुछ ही घंटों बाद विपक्षी नेता इमरान खान ने आज फिर मांग दोहरायी.

 

पीटीआई प्रमुख खान ने पाकिस्तानी संसद की घेरेबंदी कर रहे अपने समर्थकों से कहा, ‘‘हम प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के इस्तीफे से कम कुछ स्वीकार नहीं करेंगे.’’ इमरान खान ने चेतावनी दी है कि यदि उनकी मांगों को नहीं माना गया तो वह राष्ट्रव्यापी चक्का जाम शुरू करेंगे. ‘‘हम यहीं नहीं रूकेंगे. हम पूरे देश में यातायात को रोक देंगे.’’ हालांकि उन्होने इसके लिये किसी तारीख की घोषणा नहीं की. 

 

इस बीच, 30 दिन के लिए प्रधानमंत्री पद से शरीफ के हटने की मांग सरकार के हाथों ठुकराए जाने के बाद राजनीतिक गतिरोध आज 11वें दिन में प्रवेश कर गया जबकि इसके हल की दिशा प्रगति के कोई आसार नहीं दिख रहे हैं. कल रात सरकार और पीटीआई के वार्ताकारों के बीच वार्ता का तीसरा दौर हुआ लेकिन यह वार्ता गतिरोध भंग करने में नाकाम रही.

 

पीटीआई ने कल प्रस्ताव दिया था शरीफ 30 दिन के लिए अपने पद से इस्तीफा दे दें और इस दौरान कोई न्यायिक आयोग यह निर्धारित करने के लिए ‘स्वतंत्र रूप से’ काम करे कि क्या मई 2013 के चुनाव पारदर्शी थे.

 

बहरहाल, सरकार ने यह मांग खारिज कर दी. सरकार का कहना है कि उसने पीटीआई की लगभग सभी दूसरी मांगें मान ली हैं. इस बीच, पीटीआई ने घोषणा की कि वह इस शाम से दूसरे शहरों में स्क्रीन के साथ और कई शहरों में छोटे स्तर पर प्रदर्शन का आयोजन शुरू करेगी.

 

बैठक के बाद, खान के मुख्य वार्ताकार शाह महमूद कुरैशी ने पत्रकारों को कहा कि निर्दोष साबित होने पर शरीफ सत्ता में लौट सकते हैं. दूसरी ओर खान की पार्टी पीटीआई से चुनकर नेशनल एसेम्बली पहुंचे 11 बागी सदस्यों ने इस्तीफे को लेकर पार्टी नेतृत्व से रूख से नाराज होकर फॉरवार्ड ब्लॉक का गठन करने का फैसला किया है.

 

खान और धर्मगुरू ताहिर-उल-कादरी के हजारों समर्थक यहां संसद भवन के बाहर डेरा डाले हुए हैं. उनके प्रदर्शन का आज 11वां दिन है. पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्टों के अनुसार सरकार ने सुरक्षा कारण बताते हुए कौमी असेंबली और उसके इर्दगिर्द ‘रेड जोन’ में मोबाइल फोन सेवा निलंबित कर दी है.

 

ऐसी भी रिपोर्टें हैं कि प्रदर्शन स्थल को जोड़ने वाली सभी सड़कों को अवरूद्ध करने की ताजा कोशिश हो रही है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Pakistan PM brand protest illegal, Imran Khan threatens nation wide blockade
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017