पाकिस्तान में भारी हंगामा, प्रदर्शनकारियों को हटाकर सेना ने शुरू कराया PTV का प्रसारण

By: | Last Updated: Monday, 1 September 2014 1:36 AM
pakistan_protest

इस्लामाबाद में पाकिस्तानी सरकारी टीवी चैनल PTV पर कब्जा करने के बाद पाकिस्तानी प्रदर्शनकारी. (AP Photo)

नई दिल्ली: पाकिस्तान में भारी हंगामा, प्रदर्शनकारियों को हटाकर सेना ने शुरू कराया पीटीवी का प्रसारण, सरकारी सचिवालय पर भी कब्जा किया

राजनीतिक उठापटक के बीच पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल राहिल शरीफ पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ से मिलने वाले हैं. पाकिस्तान में आज सुबह से जोरदार हंगामा हो रहा है. उस समय सनसनी मच गई जब इमरान खान के समर्थकों ने पाकिस्तान के सरकारी टीवी चैनल पीटीवी के दफ्तर में घुसकर तोड़फोड़ की औऱ प्रसारण ठप करा दिया.

 

हालांकि पाकिस्तानी सेना प्रदर्शनकारियों को खदेड़कर प्रसारण फिर से शुरू करा दिया है. इमरान खान ने समर्थकों की करतूत पर कड़ी नाराजगी जताई है औऱ एलान कर दिया कि पीटीवी पर हंगामा करने वालों से उनकी मुहिम कमजोर हो रही है. ऐसा लोगों को वो पार्टी से निकाल देंगे.

 

आज सुबह जैसे ही इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी और मौलाना ताहिरुल कादरी की पार्टी पाकिस्तान आवामी तहरीक के समर्थकों ने पीटीवी पर कब्जा किया, चैनल का प्रसारण बंद हो गया.

 

जियो टीवी के संपाकद हामिद मीर का कहना है कि इमरान खान और ताहिरुल कादरी ने कहा था कि प्रदर्शनकारी सरकारी इमारत में दाखिल नहीं होंगे, लेकिन अब इसका खुला उल्लंघन हो रहा है. सरकार ने बिगड़ते हालात के बीच सेना तलब किया है.

 

क्यों हो रहे हैं प्रदर्शन?

 

पाकिस्तान में बीते 14 दिन से जोरदार प्रदर्शन हो रहे हैं. इमरान खान और ताहिरुल कादरी का आरोप है कि नवाज़ शरीफ ने बीते चुनाव में बड़े पैमाने पर धांधली की थी. उनकी मांग है कि नवाज़ पीएम पद से इस्तीफा दें और नए सिरे से चुनाव कराए जाएं, लेकिन नवाज़ शरीफ इसके लिए तैयार नहीं हैं.

 

इमरान खान ने शनिवार की रात अपने समर्थकों को प्रधानमंत्री आवास की तरफ कूच करने और वहां धरने पर बैठने का आह्वान किया था. उनके साथ ताहिर उल-कादरी की पाकिस्तान आवामी तहरीक (पीएटी) के भी कार्यकर्ता थे.

 

प्रदर्शनकारियों के इस कदम के विरोध में पुलिस की कार्रवाई में आठ लोग मारे गए और करीब 450 लोग घायल हो गए.

 

 

बातचीत के दरवाज़े खुले हैं

सरकार ने रविवार को कहा कि उसके दरवाजे अभी भी बातचीत के लिए खुले हैं.

 

रेडियो पाकिस्तान के मुताबिक, यह कहते हुए कि सरकार और लोकतंत्र के प्रतीक प्रधानमंत्री आवास की तरफ कूच कर इमरान खान और कादिरी ने अक्षम्य अपराध किया है सूचना मंत्री परवेज राशिद ने कहा कि सरकार राष्ट्रीय हितों को ध्यान में रखते हुए बातचीत का दरवाजा कभी बंद नहीं करेगी और सरकार शांतिपूर्ण तरीके से स्थिति का समाधान चाहती है.

 

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अध्यक्षता में हुई एक उच्चस्तरीय बैठक में रविवार को मौजूदा स्थिति पर चर्चा हुई जिसमें शनिवार रात को हुई घटना और भावी कार्रवाई पर विचार किया गया.

 

इमरान की पार्टी में बग़ावत

 

इस बीच शनिवार की रात समर्थकों के साथ प्रधानमंत्री आवास की तरफ कूच करने की इमरान की कोशिश की उनकी पार्टी के नेताओं ने आलोचना की है. पीटीआई के अध्यक्ष जावेद हाशिमी ने रविवार को कहा कि उन्हें नहीं पता कि किसने इमरान को ऐसा करने की सलाह दी.

 

इससे पहले इमरान खान ने रविवार को जोर देकर कहा कि प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, गृह मंत्री निसार अली खान और पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ को बख्शा नहीं जाएगा.

 

क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान ने अपने समर्थकों से कहा कि शरीफ बंधुओं और गृह मंत्री के खिलाफ हत्या के आरोप में प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी.

 

जिओ न्यूज के मुताबिक, उन्होंने कहा कि रविवार एक निर्णायक दिन है और वे अपनी अंतिम सांस तक लड़ेंगे.

 

पुलिस ने 500 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया है और उन्हें अज्ञात स्थानों पर रखा गया है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pakistan_protest
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Pakistan protest
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017