पाकिस्तान एक हफ्ते में निपटाएगा सजा-ए-मौत के मामले

By: | Last Updated: Thursday, 18 December 2014 2:30 PM

इस्लामाबाद : पाकिस्तान में मौत की सजा पाए कैदियों पर एक सप्ताह के अंदर फैसला होने की संभावना है. देश के आंतरिक सुरक्षा मंत्रालय ने दोषियों की दया की अपील को निपटाने का कार्य शुरू कर दिया है.

 

यह बात गुरुवार को मीडिया की एक रपट में सामने आई. मंत्रालय ने गुरुवार को मौत की सजा पाए 120 कैदियों की दया अपील प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के पास भेजा है. शरीफ ऐसे सभी दरख्वास्त राष्ट्रपति ममनून हुसैन को सौपेंगे. राष्ट्रपति ही इन अपीलों पर अंतिम फैसला लेंगे.

 

दोषी को मौत की सजा देने या उस पर रोक लगाने के राष्ट्रपति के फैसले को वापस आंतरिक मंत्रालय के पास भेज दिया जाएगा.

 

राष्ट्रपति द्वारा खारिज की गई अपीलों को संबंधित प्रांत के गृह विभाग को भेजा जाएगा. उसके बाद गृह विभाग संबंधित सेशन कोर्ट के जज से कैदी के ‘डेथ वारंट’ की मांग करेंगे.

 

आंतरिक सुरक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा है कि इस पूरी प्रक्रिया में एक सप्ताह लग सकता है.

 

उल्लेखनीय है कि पेशावर में मंगलवार को एक स्कूल पर हुए आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तान ने आतंकवाद संबंधित मामलों में मौत की सजा पर लगी पाबंदी बुधवार को एक सर्वदलीय बैठक के दौरान हटाने की ऐलान किया था. इस हमले में 141 लोग मारे गए थे, जिनमें 132 बच्चे थे.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: pakistan_punishment capital_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Pakistan punishment capital
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017