पेरिसः रेफ्रीजिरेटर और सिंक के पीछे छिप कर बचाई अपनी जान

By: | Last Updated: Saturday, 10 January 2015 11:23 AM
paris

पेरिस: सुपरमार्केट के रेफ्रीजेटर में अपने बच्चे को छिपा लेने वाले एक पिता से लेकर सिंक के नीचे छिपकर पुलिस को संदेश भेजने वाले कर्मचारी तक उन सभी की सूझबूझ की फ्रांसीसी अधिकारियों ने सराहना की है जो बंधक प्रकरण में बाल बाल बच गए. बंधक बनाने की घटनाओं से कल राजधानी पेरिस दहल गया था.

 

पेरिस के अभियोजक फ्रांसिस मोलिंस ने संवाददाताओं को बताया कि शार्ली हेब्दो नरसंहार के संदिग्ध बंधुओं ने जिस प्रिंटिंग प्रतिष्ठान पर कब्जा कर रखा था, वहां एक कर्मचारी कैंटीन में सीढ़ियों के नीचे एक सिंक में छिप गया था. छब्बीस वर्षीय ग्राफिक डिजायनर लिलियान बुरी तरह डर गया था.

 

जांच से जुड़े सूत्र ने बताया कि लेकिन जब उसे लगा कि संदिग्धों की नजर से वह बच हुआ है तो उसने हिम्मत जुटाकर पुलिस को एसएमएस भेजा और परिसर में अपने ठिकाने जैसी बातें बतायीं. वह संदिग्धों की बातें सुनकर प्रतिष्ठान के बाहर तैनात सुरक्षाकर्मियों तक उसे पहुंचा रहा था.

 

मोलिंस ने बताया कि बुधवार को शार्ली हेब्दो पत्रिका के कार्यालय पर हमलाकर 12 लोगों को मौत की घाट उतारने के बाद से फरार चल रहे संदिग्धों – शेरिफ काउची (32) और सईद (34) को एक संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद सुरक्षाकर्मियों ने चारों ओर से घेर लिया था.

 

यहां से करीब 40 किलोमीटर दूर जब इन दो भाइयों के कथित सहयोगी एमेडी कौलीबाली ने विनसींस के सुपरमार्केट पर हमला किया तब इलान और उसका तीन साल का बेटा वहां थे. दोनों रेफ्रीजेरेशन इकाई में छिप गए.

 

जांच से जुड़े सूत्रों ने बताया कि उनके साथ कम से कम तीन अन्य लोग थे. इलान ने बेटे को ठंड से बचाने के लिए तुरंत अपना जैकेट उतारकर उससे उसे ढक दिया. वे सभी करीब पांच घंटे तक वहां रहे.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: paris
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017