क्या कोई पाकिस्तान पर भरोसा कर सकता है?

By: | Last Updated: Thursday, 18 December 2014 12:03 PM
peshawar

नई दिल्ली: आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान के दो चेहरे एक बार फिर सामने आए हैं. पेशावर के स्कूल में हुए हमले के बाद पाकिस्तान की सभी पार्टियों ने कल एक सुर में कहा था कि अच्छा और बुरा तालिबान नहीं होता लेकिन 24 घंटे के अंदर ही पाकिस्तान का दोहरा रवैया सामने आ गया. पहले मुंबई हमले के गुनहगार हाफिज सईद ने भारत को धमकी दी और आज मुंबई हमले के गुनहगार जकीउर रहमान लखवी को पाकिस्तान की अदालत ने जमानत दे दी है. 

 

क्या इन घटनाओं को देखने के बाद भी कोई पाकिस्तान की इस बात पर भरोसा कर सकता है कि वह आतंकवाद के खिलाफ सख्त रुख अपनाएगा. पेशावर में बच्चों के नरसंहार के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आतंकवाद को मिटाने की बड़ी बड़ी बातें की थी लेकिन आज पाकिस्तान की अदालत से मुंबई हमले का आरोपी जकीउर रहमान लखवी जमानत पर छूट गया. और इसके लिए पाकिस्तान की सरकार जिम्मेदार है.

 

मुंबई के 26/11हमलों के गुनाहगार लखवी को मिली जमानत 

आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के ऑपरेशन कमांडर लखवी को जमानत इसलिए मिल गई क्योंकि रावलपिंडी की एंटी टेरर कोर्ट में सुनवाई के दौरान जमानत का विरोध करने के लिए सरकारी वकील पहुंचे ही नहीं. एकतरफा सुनवाई में जज ने लखवी को जमानत पर रिहा करने का आदेश दे दिया.

 

फिर वही सवाल क्या आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान कभी गंभीर होगा. पेशाव में बच्चों के नरसंहार के बाद कल एक तरफ नवाज शरीफ सभी पार्टियों के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में आतंकवाद के खात्मे की बात कर रहे थे वहीं दूसरी तरफ मुंबई हमले का मास्टरमांड हाफिज सईद भारत के खिलाफ जहर उगल रहा था.

 

भारत सरकार ने हाफिज सईद और लखवी के खिलाफ मुंबई हमले से जुड़े सारे सबूत पाकिस्तान को दे रखे हैं. लेकिन हाफिज सईद पाकिस्तान में खुला घूम रहा है. पिछले दिनों नवाज शरीफ सरकार ने हाफिज के जलसे के लिए स्पेशल ट्रेन भी चलवाई थी. अब वही हाफिज भारत के खिलाफ फिर जहर उगल रहा है और पाकिस्तान की सरकार चुप है.

 

सवाल ये है कि आखिर पाकिस्तान की अदालतों से हाफिज सईद और लखवी जैसे बड़े आतंकी छूट कैसे जाते हैं. जानकार कहते हैं कि पाकिस्तान में इन आतंकी सरगनाओं के खिलाफ केस ही कमजोर बनाया जाता है.

 

मुंबई हमले के गुनहगारों पर पाकिस्तान सरकार की नरमी ने आतंकवाद पर उसके दोगलेपन को एक बार फिर बेनकाब कर दिया है. अब दुनिया के सामने फिर वही सवाल है कि क्या आतंक के खात्मे की बात करना पाकिस्तान का सिर्फ दिखावा है.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: peshawar
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: peshawar
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017