पेशावर: कड़ी सुरक्षा के बीच फिर खुला आर्मी स्कूल, 16 दिसंबर को हुए आतंकी हमले में 132 बच्चों की हुई थी हत्या

By: | Last Updated: Monday, 12 January 2015 4:10 AM
peshawar_army_school_starts

नई दिल्ली: पेशावर के आर्मी स्कूल में आतंकी हमले के बाद आज पहली बार स्कूल खुला. 16 दिसंबर को आतंकियों ने स्कूल में 132 बच्चों समेत 141 लोगों की हत्या कर दी थी. स्कूल के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम दिखे. दिल दहला देने वाली इस घटना के बाद आज यह स्कूल एक बार फिर खुल गया. स्कूल में आद मृत बच्चों और टीचर्स को याद किया जाएगा और उन्हें श्रद्धांजलि दी जाएगी.

 

स्कूल के बच्चों ने जियो ज्यूज़ से बातचीत में कहा कि, ”उन्हें खुशी है कि स्कूल दोबारा खुल गया है. क्रिकेट मेरा पसंदीदा खेल है. हम स्कूल जाएंगे और क्रिकेट के मैच खेलेंगे. हमें किसी तरह का कोई डर नहीं लग रहा है.”

 

 

गौरतलब है पिछले 16 दिसंबर को तालिबानी आतंकियों ने पेशावर के आर्मी स्कूल में कत्लेआम किया था और छोटे-छोटे बच्चों को भी गोलियों से भून डाला था.

 

क्या थी घटना?

16 दिसंबर का वो मनहूस दिन था जब पाकिस्तान के पेशावर में आर्मी पब्लिक स्कूल में तहरीक ए तालिबान के आतंकियों ने हमला किया था. सुबह 11 बजे का वक्त था और स्कूल में करीब 1100 बच्चे मौजूद थे.आतंकी दबे पांव पीछे के रास्ते स्कूल तक पहुंचे थे.

 

मौत का पैगाम लेकर आए आतंकियों ने स्कूल को कब्रगाह बना दिया. पहाड़ों की जगह क्लास में चीखे गूंज रही थीं स्कूल में सुनाई देने वाला बच्चों का शोर थम गया है और बाकी रह गए हैं गोलियों से छलनी हुई दीवारों के ये निशान जो ये बता रहे हैं कि 7 घंटे तक स्कूल में मासूम बच्चों ने मौत का कैसा तांडव देखा है जिन कॉपियों पर स्याही के निशान होने चाहिए थे वो खून से सनी हुई थीं.

 

आतंकियों ने अंधाधुंध गोलियां बरसाईं.. किसी के दिमाग में गोली लगी तो किसी की आंख पर. एक टीचर को तो बच्चों के सामने जिंदा जला दिया गया. 14 साल के तैयब को आतंकियों ने नौ गोलियां मारी..तैयब अपने घर का इकलौता चिराग था.तैयब का जनाजा निकला तो कोहराम मच गया.

132 बच्चों के मां-बाप पर क्या बीत रही होगी.. क्या बीत रही होगी उस पिता पर जिसे नाजों से पाले अपने बच्चे के जनाजे को कांधा देना पड़ा

 

धर्म के नाम पर अधर्म करने वाले तालिबान के आतंकियों पर छोटे छोटे मासूम बच्चों की चीख पुकार का कोई असर नहीं हुआ. गोलियों की आवाज सुनकर कुछ क्लास रूम में बच्चों और टीचर ने खुद को बंद कर लिया था. वो खुशनसीब रहे जो पेशावर में आई इस कयामत से बच गए.

 

भारत के स्कूलों में भी पेशावर में मारे गए बच्चों को श्रद्धांजलि दी गई

 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शऱीफ ने आर्मी स्कूल में मारे गए बच्चों को आज श्रद्धांजलि दी. नवाज ने कहा कि अफगानिस्तान के साथ मिलकर पूरे इलाके से आतंकवाद का खात्मा करेंगे.

 

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा था कि आतंकियों ने एक बार फिर अपनी दुष्टता दिखाई. यही नहीं अफगान तालिबान ने भी स्कूल में घुसकर इस तरह बच्चों की हत्या की निंदा की थी.

 

संबंधित खबरें-

पेशावर हमले के मुख्य साजिशकर्ता सद्दाम को मार गिराया

मुंबई में पेशावर जैसे स्कूल हमले का खुलासा 

पाकिस्तान: 2014 में आतंकवादियों के निशाने पर रहे बच्चे  

आतंक के खिलाफ पाकिस्तान की अधूरी लड़ाई  

पेशावर हमले को लेकर अगस्त में किया था आगाह 

पाकिस्तान स्कूल हमला: अल-कायदा का सीना ‘दुख से छलनी’ हो गया है 

पेशावर स्कूल के बच्चों की काउंसिलिंग कराएगा पाकिस्तान 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: peshawar_army_school_starts
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?????? ???? ?????? ?????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017