पीएम मोदी ने दी विश्व युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि, लिखा-शहीद होने पर स्वर्ग मिलेगा

By: | Last Updated: Saturday, 11 April 2015 3:25 PM
PM Modi pays tribute to Indian soldiers

फ्रांस: प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान फ्रांस के पक्ष में लड़ते हुए अपनी जान न्योछावर करने वाले लगभग 10 हजार भारतीय जवानों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यहां श्रद्धांजलि दी . मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं जो शहीदों को श्रद्धांजलि देने फ्रांस स्थित इस युद्ध स्मारक आए.

 

मोदी आज न्यूवे शपेल स्थित शहीद स्मारक गए और श्रद्धासुमन अर्पित किए. यहां स्मारक के अधिकारियों ने उन्हें इसके इतिहास के बारे में जानकारी दी.

 

प्रधानमंत्री ने यहां आगंतुक पुस्तिका में लिखा, ‘‘शहीद होने पर स्वर्ग मिलेगा. विजयी होने पर संसार का आनंद मिलेगा. मैं यहां न्यूवी शापेल में भारतीय स्मारक में भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करके सम्मानित महसूस कर रहा हूं.’’ मोदी ने कहा, ‘‘ हमारे सैनिक इस महान युद्ध में विदेशी जमीन पर लड़े और अपने समर्पण, वफादारी, साहस और बलिदान के लिए दुनियाभर में सराहना प्राप्त की. मैं उनका नमन करता हूं. ’’

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फ्रांस दौरे का दूसरा दिन है मोदी ने फ्रांस के साथ कई अहम समझौते किए हैं. लेकिन हर बार की तरह इस बार भी मोदी विदेश दौरे के दौरान अपने अंदाज को लेकर भी सुर्खियों में हैं. आज जब पीएम विश्व युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे तो खुद शहीदों अमर रहे के नारे भी लगाए.

 

प्रथम विश्व युद्ध के दौरान शहीद भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे नरेंद्र मोदी नारे लगाने से खुद को रोक नहीं पाए . वॉर मेमोरियल के बाहर भारतीय भारी तादाद में जुटे थे और जब मोदी श्रद्धांजलि देकर निकले तो भारतीयों के साथ नारे लगाए.

 

खराब मौसम के बावजूद ओवरकोट पहने प्रथम विश्वयुद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. मोदी ने श्रद्धांजलि अर्पित की और इसके साथ ही पीएम ने फ्रांस के उच्चाधिकारियों के साथ करीब पांच मिनट तक इस मेमोरियल के बारे में जानकारी ली.

 

मोदी उस स्तंभ के सामने भी पहुंचे जहां हिंदी में लिखा था ओम भगवते नम: अरबी में लिखा था बिस्मिल्ला-ए-रहमान-रहीम

गुरमुखी में एक ओमकार लिखा है .

 

प्रथम विश्व युद्ध के दौरान न्यूवे चैपल की लड़ाई हुई थी जिसमें करीब चार हजार भारतीय सैनिक शहीद हुए थे. जिनके नाम वॉर मेमोरियल पर लिखे हैं. ये लड़ाई 8 मार्च 1915 को शुरू हुई थी और कई दिनों तक चली थी. इस युद्ध में अगर भारतीय सैनिकों ने अपनी बहादुरी का जौहर नहीं दिखाया होता तो फ्रांस पर जर्मन सेना का कब्जा हो गया होता यही वजह है कि फ्रांस ने इस युद्ध स्मारक को भारतीय सैनिकों की याद में बनवाया.

 

पीएम ने इस दौरान गढवाल फर्स्ट वर्ल्ड वॉर मेमोरियल का 14 इंच का रेप्लिका भी भेंट किया.  इस मेमोरियल में श्रद्धांजलि देने वाले पीएम मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं.

 

इसी युद्ध में एक भारतीय सनिक दरबान सिंह नेगी को विक्टोरिया क्रॉस से नवाजा गया था. विक्टोरिया क्रॉस आज के परमवीर चक्र के बराबर है और ब्रिटेन इसे वीर सैनिकों को देता था.

 

वॉर मेमोरियल से बाहर निकलने के बाद मोदी ने भारतीयों के साथ तस्वीरें भी खिंचवाई. लोगों से हाथ भी मिलाया. इसी तरह का एक वॉर मेमोरियल में बेल्जियम में भी बना है. प्रथम विश्वयुद्ध 1914 से 1918 के बीच लड़ा गया था. हिंदुस्तान में भी प्रथम विश्व युद्ध के सौ साल पूरे होने पर प्रदर्शनी का आयोजन पिछले महीने किया गया था जिसमें पीएम मोदी शामिल हुए थे.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: PM Modi pays tribute to Indian soldiers
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?????? France Indian Soldiers PM Modi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017