श्रीलंका में भीषण भूस्खलन में 160 लोग दबे, मोदी ने संवेदना जताई

By: | Last Updated: Thursday, 30 October 2014 5:23 PM
srilanka

कोलंबोः श्रीलंका में भारी बारिश के कारण हुए भीषण भूस्खलन में कम से कम 10 लोग मारे गए हैं और करीब 160 लोग मलबे में दबे हुए हैं जिनके बचे रहने की उम्मीद क्षीण है. भूस्खलन में अधिकतर भारतीय मूल के बागान कामगारों के घर नष्ट हो गए हैं .

भारत ने इस आपदा से निपटने में मदद की पेशकश की है . बचाव कार्य में सेना के साथ ही भारी मशीनों को लगाया गया है.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका में भूस्खलन के कारण लोगों की मौत पर संवेदना प्रकट की है. प्रधानमंत्री ने घायलों की स्थिति में तेजी से सुधार की कामना की है.

 

कल हुए इस भूस्खलन के कारण मध्य बादुला जिले के मीरियाबेद्दा चाय बागान में 120 कामगारों के घर नष्ट हो गए .

 

आपदा प्रबंधन मंत्री महिंदा अमरवीरा ने कहा, ‘‘मैंने मौके का दौरा किया और जो मैंने देखा उससे मुझे नहीं लगता कि कोई जीवित बचा होगा.’’ श्रीलंकाई राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने आपदा प्रभावित कोसलांदा-मीरिया बेड्डा इस्टेट गांव का दौरा किया और प्रभावित लोगों से मुलाकात की.

 

राजपक्षे कोसलांदा श्री गणेश तमिल स्कूल में स्थापित राहत शिविर भी गए तथा पीड़ितों की खरियत जानी. उन्होंने भूस्खलन प्रभावित लोगों को राशन भी वितरित किए.

 

आपदा प्रबंधन केंद्र ने 10 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है और कहा कि करीब 160 लोग अब भी लापता हैं. इस आपदा से 320 परिवारों के 1,067 लोग प्रभावित हुए हैं.श्रीलंका के शीर्ष अधिकारियों के अनुसार मलबे में दबे लोगों में से किसी के जिंदा होने की उम्मीद बहुत कम है, लेकिन सेना और पुलिसकर्मी राष्ट्रीय भवन शोध संगठन (एनबीआरओ) की पांच टीमों के साथ राहत अभियानों में जुटे हुए हैं . श्रीलंकाई सेना ने मलबे में दबे लोगों को निकालने के लिए सुरक्षा बल मुख्यालय से 500 से अधिक सैनिकों की टुकड़ी को लगाया है.

 

इस बीच, बागान मंत्री महिंदा समरसिंघे ने आज कहा कि वर्ष 2011 में जारी भूस्खलन चेतावनी की मीरियाबेद्दा चाय बागान ने अनदेखी की. उन्होंने कहा कि इस सिलसिले में जांच की जानी चाहिए कि चाय बागान मालिकों ने चेतावनी की अनदेखी क्यों की, जिसके कारण अब इतने लोग मारे गए .

 

भारत ने कल भूस्खलन से प्रभावित सैकड़ों लोगों के राहत एवं बचाव के लिए मदद की पेशकश की .

 

भारतीय उच्चायुक्त वाईके सिन्हा ने आज सुबह श्रीलंकाई विदेश मंत्री जी एल पीरिस के साथ बात की और भूस्खलन की आपदा से निपटने के लिए सहयोग की पेशकश की.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: srilanka
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017