मृत तारा सूर्य से 1 करोड़ गुना ज्यादा चमकदार

By: | Last Updated: Saturday, 11 October 2014 11:20 AM

वाशिंगटन: राष्ट्रीय वैमानिकी एवं उपग्रह प्रशासन (नासा) के स्पेक्ट्रोस्कोपी टेलिस्कोप ऐरे (न्यूस्टार) की सहायता से खगोलविदों ने एक मृत तारे को सूर्य से एक करोड़ गुना ज्यादा चमकदार पाया है. यह सबसे चमकदार पल्सर (न्यूट्रॉन तारा) है, जो सुपरनोवा विस्फोट का अवशेष है.

 

अमेरिका में पासाडेना स्थित कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में न्यूस्टार के प्रमुख जांचकर्ता फियोना हैरिसन ने कहा, “आप इसे तारकीय अवशेष के रूप में सबसे शक्तिशाली पल्सर मान सकते हैं. इसमें ब्लैक होल की सारी शक्तियां हैं, लेकिन इसका द्रव्यमान उससे कम है.”

 

इस खोज से खगोलविदों को ब्लाइंडिंग एक्स-रे (अल्ट्रा-ल्यूमिनस एक्स-रे) के स्रोत को समझने में मदद मिलेगी. अब तक यही माना जाता था कि सभी अल्ट्रा-ल्यूमिनस एक्स-रे ब्लैक होल्स ही हैं.

 

न्यूस्टार से मिले आंकड़ों से पता चलता है कि कम से कम एक अल्ट्रा-ल्यूमिनस एक्स-रे मैसियर आकाशगंगा 82 में लगभग 1.2 करोड़ प्रकाश वर्ष दूर है और वास्तव में एक पल्सर है. उल्लेखनीय है कि पल्सर न्यूट्रॉन तारे होते हैं.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: star-sun
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP Star sun
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017