ब्लैकमनी अकाउंट्स की जानकारी देगा स्विस बैंक, नए सिस्टम पर तेजी से कर रहा काम

By: | Last Updated: Friday, 4 September 2015 3:14 AM
Swiss has announced to share information of tax evaders on the basis of leaked data from banks

जिनेवा: भारत सहित कई देश स्विस खातों की जानकारी के लिए स्विटजरलैंड पर दबाव बनाए हुए है. नए समझौते को मुताबिक अब स्विस बैंक खुद से इसकी जानकारी एक नए समझौते के तहत देंगे. यह समझौता 2017 से प्रभावी हो जाएगा. सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए बनाए जा रहे इस नए सिस्टम पर स्विटजरलैंड के बैंक बहुत तेजी से काम कर रहे हैं. इससे भारत के उन प्रयासों को बल मिलेगा जो वह स्विटजरलैंड में अवैध धन जमा कराने वाले अपने नागरिकों की धरपकड़ के लिए कर रहा है.

 

स्विस बैंकों के प्रमुख संगठन एसबीए ने यह जानकारी दी. इसके अनुसार उसके सदस्य कर मामलों में सूचनाओं के स्वत:आदान प्रदान (एईओआई) के कार्यान्वयन के लिए ‘पूरी गति’ से काम कर रहे हैं.

 

स्विटजरलैंड इस ढांचे के तहत भारत तथा विभिन्न देशों के साथ सूचनाएं साझी करेगा.

 

यह प्रणाली अस्तित्व में आने के बाद स्विस बैंक सम्बद्ध जानकारी स्विस संघीय कर प्रशासन (एफटीए) को देंगे जो इसे अपने समकक्ष प्राधिकारों को उपलब्ध कराएगा.

 

उल्लेखनीय है कि स्विटजरलैंड को बैंकिंग क्षेत्र में कड़े गोपनीयता नियमों के लिए जाना जाता है. लेकिन उस पर भारत सहित अन्य देशों का भारी दबाव है जो कि कालेधन की समस्या के खिलाफ अभियान चला रहे हैं. भारत अवैध रूप से अपना धन स्विस बैंकों में जमा कराने के संदेह में अपने सैकड़ों नागरिकों के खिलाफ जांच कर रहा है.

 

उनके नाम एचएसबीसी की जिनेवा बैंक शाखा की उस सूची का हिस्सा है जो कि काफी लंबी है. इस सूची को एचएसबीसी के एक पूर्व कर्मचारी ने चुरा लिया था. इसके बाद यह सूची फ्रांस सरकार के पास पहुंच गई, जिसने इसे भारत के साथ साझा किया.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Swiss has announced to share information of tax evaders on the basis of leaked data from banks
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017