ISIS को बड़ा झटका, उसका टेलिग्राम बंद!

By: | Last Updated: Thursday, 19 November 2015 10:59 AM
Telegram messaging app shuts down 78 ISIS channels

नई दिल्ली: पेरिस हमले के बाद आईएस को एक बड़ा झटका लगा है. टेलीग्राम एप नाम के जिस सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर आईएस अपना नेटवर्क बढ़ा रहा था उसने अपने प्लेटफॉर्म पर आईएस के लिए काम करने वाले 78 चैनलों को बंद कर दिया है. लेकिन कहा जा रहा है कि ये काफी नहीं है.

 

विदेशी धरती पर आईएस का सबसे बड़ा निशाना बना था पेरिस- इस हमले के हफ्ते भर के भीतर आतंकी संगठन आईएस के प्रचार-प्रसार और नए आतंकियों की भरती करने में इस्तेमाल हो रहे सोशल मीडिया एप टेलिग्राम ने एक बड़ा कदम उठाया है. सीक्रेट चैट के लिए इस्तेमाल होने वाले रूसी एप टेलिग्राम ने 12 भाषाओं में काम कर रहे आईएस के उन 78 चैनलों को ब्लॉक कर दिया है जिनकी मदद से आईएस के आतंकी आपस में बात करते थे.

 

टेलीग्राम एप के मुताबिक हमारा मकसद लोगों को पूरी दुनिाय में सुरक्षित संवाद का जरिया देना है. हम इस बात से चिंतत हैं कि टेलिग्राम का इस्तेमाल आईएस अपने प्रचार के लिए कर रहा है. हमने अपने ऐप से उन गैरकानूनी सामग्री को हटा दिया है जिसके लिए हमसे मांग की जा रही थी.

 

दरअसल पेरिस हमले के ठीक एक दिन बाद आईएस ने 34 पन्ने का एक दस्तावेज जारी करके अपने समर्थकों को  सिर्फ टेलीग्राम एप का इस्तेमाल करने की सलाह दी थी ताकि दुनिया भर की सुरक्षा एजेंसियों को उनकी बातचीत का कोई सुराग ना मिल सके. आपका चैनल एबीपी न्यूज आपको बता रहा है कि आखिर आईएस के आतंकी टेलिग्राम एप पर भरोसा क्यो था?

 

व्हाट्सएप और वाइबर जैसे एप पर होने वाली बातचीत आसानी से सुरक्षा एजेंसियों की नजर में आ जाती है. लेकिन टेलिग्राम एप पर होने वाली बातचीत को सुरक्षा एजेंसियां तो क्या खुद टेलिग्राम भी पकड़ नहीं सकता है?

 

इसकी वजह है टेलिग्राम एप में इस्तेमाल की गई गोपनीयता की अब तक की सबसे बेहतरीन तकनीक. इस तकनीक से भेजा गया मैसेज टेलिग्राम एप के सर्वर तक पर दर्ज नहीं होता है. टेलिग्राम एप से भेजे गए मैसेज और संदेश अपने आप डिलीट हो जाते हैं.

 

एप पर होने वाली बातचीत और फाइलों को 1 सेकेंड से लेकर 1 महीने के भीतर डिलीट होने के लिए प्रोग्राम किया जा सकता है. एक बार मैसेज या फाइल डिलीट होने के बाद दुनिया के किसी कोने में उसका कोई सुराग मौजूद नहीं होता. टेलिग्राम एप पर 1.5 गीगाबाइट्स की फाइल भेजी जा सकती हैं जो मोटे तौर पर एक मूवी जितनी भारी भरकम हो सकती है. ये सेवा किसी दूसरे एप पर मौजूद नहीं है.

 

पेरिस पर हुए इस हमले के बाद आतंकी संगठन आईएस ने टेलिग्राम एप पर ही आईएस ने संदेश भेजा था कि पेरिस हमला तो तूफान की शुरुआत भर है.

 

5 करोड़ लोग जिस टेलिग्राम का इस्तेमाल कर रहे हैं उसे रूस के पावेल और निकोलोव नाम के दो युवकों ने शुरू किया था. निकोलोव रूस की सुरक्षा एजेंसियों की निगरानी की नीतियों के खिलाफ थे जिसकी वजह से उन्होंने अपने टेलिग्राम एप को ऐसी खूबियों से लैस कर दिया जिसके बाद सुरक्षा एजेंसियां भी लोगों की गोपनीयता भंग ना कर पाएं. लेकिन अब वही टेलिग्राम आईएस के आतंकियों का हथियार बन गया है.

 

 

ये भी पढ़ें :

फ्रांस का असली हीरो था डीजल 

ISIS के खतरे से परे नहीं है भारत : गृहमंत्री

पेरिस : मुठभेड़ के दौरान महिला फिदायीन ने खुद को उड़ाया, फायरिंग जारी

आतंक के खिलाफ 75 शहरों में मुसलमान करेंगे प्रदर्शन

मुसलमानों के लिए भारत से अच्छा देश और हिन्दू से अच्छा पड़ोसी नहीं मिल सकता: दरगाह दीवान

पेरिस के बाद अब नाइजीरिया के योला में बम धमाका, 32 की मौत

 

 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Telegram messaging app shuts down 78 ISIS channels
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: firing France isis paris attack terrorist
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017