क्या धर्म के नाम पर इस तरह आतंक फैलाना जायज है?

By: | Last Updated: Monday, 16 November 2015 12:34 PM
Terror Attack in France’s capital:

नई दिल्ली: फ्रांस में आतंकी हमले के मास्टरमाइंड की पहचान कर ली गई है. हमले की जांच कर रहे अधिकारी के मुताबिक अब्देल हामिद अब्बाउद नाम का यह संदिग्ध आतंकवादी बेल्जियम का रहने वाला है. वहीं फ्रांस के प्रधानमंत्री मैनुअल वाल्स ने कहा है कि आतकंवादी हमलों का खतरा अभी टला नही है. वाल्स के मुताबिक चूंकि फ्रांस आतंकवाद के खिलाफ लड़ रहा है इसीलिए इस्लामिक स्टेट उसे निशाना बना रहा है. ऐसे में यह बहस एक बार फिर गर्म हो गई है कि धर्म के नाम पर आतंक फैलाना कितना जायज है?

आतंकी हमले के सुराग जुटाने में लगी फ्रांस पुलिस ने देशभर में छापेमारी का अभियान शुरू कर दिया है. उत्तरी और दक्षिणी फ्रांस के अलग अलग हिस्सों में करीब 150 से ज्यादा जगहों पर छापे मारे गए. इस दौरान पुलिस ने घरों से रॉकेट लॉंचर समेत कई हथियार बरामद किए और करीब दो दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया गया. फ्रांस के प्रधानमंत्री मैनुअल वाल्स के मुताबिक आने वाले दिनों में फ्रांस में और आतंकी हमले हो सकते हैं.

इस बीच पुलिस ने शुक्रवार को हुए आतंकी हमले में शामिल 8वें संदिग्ध आतंकवादी का फोटो जारी किया है. माना जा रहा है कि 26 साल के सालेह अब्देसलाम ने ही वो कार किराए पर ली थी जो बाताक्लां कॉन्सर्ट हॉल के बाहर खड़ी थी. फ्रांस आतंकी हमले में मारे गए कुल 129 लोगो में 89 लोगो अकेले इस कॉन्सर्ट हाल में हुए हमले में मारे गये थे. चौंकाने वाली बात यह है कि हमले के बाद संदिग्ध आतंकावदी सालेह अब्देसलाम को दो और और लोगो के साथ बेल्जियम से लगी फ्रांस की सीमा के पास पुलिस ने रोका, लेकिन उनकी जांच के बाद उन्हें जाने दिया गया. बताया जा रहा है कि उस समय तक पुलिस को उसके बारे में जानकारी नहीं थी लेकिन अब इसी संदिग्ध आतंकवादी के लिए अंतरराष्ट्रीय वारंट जारी कर दिया गया है. शक जताया जा रहा है कि वो स्पेन में हो सकता है.

 

वहीं फ्रांस के लोगों में आतंकी हमले का खौफ इस कदर बैठ गया है कि बीती रात पटाखों की आवाज से ही जबरदस्त भगदड़ मच गई. पेरिस में यह लोग मारे गए लोगों को श्रद्दांजलि देने के लिए इकट्ठा हुए थे तभी पटाखों की आवाज हुई जिससे लोगों को लगा कि फिर से आतंकी हमला हुआ है. भगदड़ मचने के साथ ही पुलिस ने भी तुरंत मोर्चा संभाल लिया.

 

इस बीच फ्रांस ने सीरिया में इस्लामिक स्टेट का गढ़ माने जाने वाले रक्का शहर में हवाई हमले करके आईएस के कमांड पोस्ट और ट्रेनिंग सेंटर तबाह करने का दावा किया है.

 

सीरिया और इराक में आईएस के आतंकियों को निशाना बनाने की वजह से ही फ्रांस आईएस के निशाने पर रहा है. यह सवाल भी उठाया जा रहा है कि क्या इस तरह की घटनाओं के लिए यूरोपीय देशों की नीतियां भी जिम्मेदार हैं?

 

आईएस की मकसद है इस्लामिक राज की स्थापना लेकिन सवाल यह है कि क्या धर्म के नाम पर इस तरह आतंक फैलाना जायज है?

 

 

यह भी पढ़ें :

पेरिस में सभी भारतीय सुरक्षित, हेल्पलाइन जारी

दुनिया भर में खूंखार पंजे फैला रहा है आईएसआईएस 

क्या चाहता है आईएसआईएस, कौन है बगदादी ?  

 

 

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Terror Attack in France’s capital:
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017