भारत विरोधी ताकतों को रोकेंगे 650 खुफिया एजेंट्स

नेपाल और भूटान से लगे ओपन बॉर्डर की देखरेख करने वाले एसएसबी को भारत विरोधी ताकतों को रोकने के लिए 650 एजेंट्स वाली पहली खुफिया शाखा मिली है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि सीमा सुरक्षा और आतंरिक सुरक्षा ड्यूटी के लिए एक स्पेशल जासूसी ब्रांच बनाने और इस तैनात करने के एसएसबी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है.

By: | Last Updated: Friday, 14 July 2017 8:21 AM
There will be a secret branch of 650 agents of SSB on the borders of India Nepal and India Bhutan

नयी दिल्ली: नेपाल और भूटान से लगे ओपन बॉर्डर की देखरेख करने वाले एसएसबी को भारत विरोधी ताकतों को रोकने के लिए 650 एजेंट्स वाली पहली खुफिया शाखा मिली है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि सीमा सुरक्षा और आतंरिक सुरक्षा ड्यूटी के लिए एक स्पेशल जासूसी ब्रांच बनाने और इस तैनात करने के एसएसबी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है.

सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) ने एक बयान में कहा कि एसएसबी की संचालन क्षमता (operational capacity) इससे बेहतर होगी. एसएसबी भारत-नेपाल के बीच 1,751 किमी लंबी सीमा और भारत-भूटान के बीच 699 किमी लंबी सीमा की पहरेदारी करता है. एसएसबी अब इन दोनों इलाकों पर अपने खुफिया एजेंटों को ट्रेनिंग देगा और उनकी तैनाती करेगा.

बताते चलें कि बल में करीब 80,000 लोग कार्यरत हैं. 1962 के चीनी आक्रमण के बाद इसका गठन किया गया था.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: There will be a secret branch of 650 agents of SSB on the borders of India Nepal and India Bhutan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: India Bhutan india nepal ssb
First Published:

Related Stories

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017