जेम्स फोले की निर्मम हत्या से पूरी दुनिया सकते में है: ओबामा

By: | Last Updated: Thursday, 21 August 2014 5:45 AM
US Scribe James Foley’s beheading by ISIL has shocked the world says Obama

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आज कहा कि अमेरिकी पत्रकार जेम्स फोले की आईएसआईएल आतंकवादियों द्वारा की गई निर्मम हत्या से पूरी दुनिया स्तब्ध है. उन्होंने कहा कि इराक स्थित आतंकवादी गुट किसी भी मजहब के लिए बात नहीं करता और उसकी विचारधारा दिवालिया है.

 

ओबामा ने मार्थज विनयार्ड में संवादाताओं से कहा, ‘‘आज पूरी दुनिया अमेरिकी पत्रकार जेम्स फोले की आईएसआईएल आतंकवादियों द्वारा की गई निर्मम हत्या से स्तब्ध है. जिम एक पत्रकार थे, एक पुत्र, भाई और एक मित्र थे. उन्होंने विषम परिस्थितियों में खतरनाक जगहों से रिपोर्टिंग की और अपना दायित्व का पालन किया है.’’

 

राष्ट्रपति मार्थज विनयार्ड में दो सप्ताह की ग्रीष्मकालीन छुट्टियां बिता रहे हैं. उन्होंने बताया कि फोले को दो साल पहले सीरिया में बंधक बनाया गया था. सीरिया से उन्होंने विपरीत हालात में रिपोर्टिंग की थी.

 

#अमेरिका ने सीरिया में अमेरिकी बंधकों को मुक्त कराने के लिए चलाया था अभियान

 

वाशिंगटन: अमेरिका ने सीरिया में आतंकवादी समूह आईएसआईएल द्वारा बंधक बनाकर रखे गए अमेरिकी नागरिकों की रिहाई के लिए हाल ही में एक असफल अभियान चलाया था. पेंटागन ने बताया कि यह अभियान इन गर्मियों में शुरू किया गया था.

 

यह रहस्योद्घाटन ‘इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड द लेवांत’ द्वारा एक वीडियो जारी किए जाने के एक दिन बाद आया है. इस वीडियो में चरमपंथी समूह का एक सदस्य अमेरिकी पत्रकार जेम्स फोले का सिर कलम करते हुए दिख रहा है. फोले को नवंबर 2012 में सीरिया में अगवा कर लिया गया था.

 

पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने कहा, ‘‘अभियान में हवाई हमले और जमीनी हमले शामिल थे और यह विशेष तौर पर आईएसआईएल के बंधक बनाने वाले नेटवर्क पर केंद्रित था. दुर्भाग्यवश यह अभियान सफल नहीं हो पाया क्योंकि बंधक लक्षित स्थानों पर मौजूद नहीं थे.’’

 

‘होमलैंड सिक्योरिटी एंड काउंटर-टेररिज्म’ के अध्यक्ष की सहायक लीजा मोनाको ने बताया कि इसी गर्मियों में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आईएसआईएल द्वारा अपहृत और सीरिया में बंधक बनाए गए अमेरिकी नागरिकों की रिहाई के प्रयास के तहत एक अभियान अधिकृत किया था.

 

उन्होंने बताया कि ओबामा ने इस बार कार्रवाई करने के लिए अधिकृत किया क्योंकि अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा दल का आकलन था कि जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं आईएसआईएल के गिरफ्त में मौजूद बंधकों के जीवन पर खतरा बढ़ता जा रहा है.