आतंक की निंदा में मुस्लिम पीछे, अपने बच्चों को IS से बचाएं- ओबामा

By: | Last Updated: Tuesday, 17 November 2015 3:16 AM
US will not send armed force against ISIS

अंताल्या: क्या अमेरिका राष्ट्रपति बराक ओबामा ने हथियार डाल दिए हैं. ओबामा ने कहा है कि अमेरिकी सेना सीरिया जाकर आईएस के खिलाफ नहीं लड़ेगी. इसके लिए ओबामा ने मौजूदा नीति का हवाला दिया है.

ओबामा ने कहा कि जब सैनिक भेजे जाएंगे तो वो सैनिक घायल होंगे, मारे जाएंगे. इससे अच्छा होगा कि अमेरिका अभी चल रहे हवाई हमलों में तेजी लाएगा. हालांकि ओबामा ने सीरिया के शरणार्थियों के लिए अमेरिका के दरवाजे खुले रखने का एलान किया है.

 

ओबामा ने मुस्लिम समुदाय से शिकायती लहजे में कहा कि जितनी निंदा होनी चाहिए उतनी नहीं हो रही है. ओबामा ने मुस्लिमों से अपील की कि वो आईएस के संक्रमण की चपेट में अपने बच्चों को आने न दें.

 

ओबामा ने जी 20 सम्मेलन के समापन पर संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा, ‘‘हम जो रणनीति आगे रख रहे हैं वह आखिरकार काम करने जा रही है. इसमें वक्त लगेगा.’’

 

हालांकि, आईएस ने अमेरिका पर हमले की चेतावनी दी है. पढ़ें- ISIS ने दी अमेरिका पर हमले की धमकी

 

आईएस की क्षमता को कम कर आंकने के बारे में बार बार सवाल पूछे जाने से ओबामा खीझ गए. उन्होंने क्षेत्र में अमेरिका के जमीनी सैनिकों (थल सेना) को भेजने की बात खारिज करते हुए कहा कि यह एक गलती होगी और क्षेत्र में एक स्थायी कब्जा लेने वाले बल की प्रतिबद्धता नहीं होने तक यह काम नहीं करेगा.

 

उन्होंने कहा, ‘‘जब सैनिक भेजे जाएंगे , वे सैनिक घायल होंगे. वे मारे जाएंगे’’ नयी रणनीति बताने की बजाय ओबामा ने कहा कि अमेरिका अभी चल रहे हवाई हमलों में तेजी लाएगा. साथ ही नरमपंथी बलों को हथियार और प्रशिक्षण देगा.

 

उन्होंने अन्य देशों से आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में अपनी भागीदारी बढ़ाने की अपील की.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: US will not send armed force against ISIS
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: isis Obama paris Peris attack
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017