आज 32 साल का हुआ ई-मेल

By: | Last Updated: Saturday, 30 August 2014 10:37 AM
washington_email

वाशिंगटन: आपको पता है, ई-मेल को किसने बनाया है, इसे हमारे बीच किसने लाया है? यह श्रेय भारतीय मूल के एक अमेरिकी नागरिक भारतवंशी शिवा अय्यादुरई को जाता है. अमेरिका की सरकार ने 30 अगस्त, 1982 को उनकी इस उपलब्धि को मान्यता दी.

 

अमेरिका में न्यूजर्सी के लिविंगटन हाई स्कूल में पढ़ाई के दौरान अय्यादुरई ने न्यूजर्सी के मेडिसिन एंड डेंटिस्ट्री विश्वविद्यालय के लिए ई-मेल प्रणाली पर काम करना शुरू किया. वर्ष 1978 में उन्होंने ई-मेल बना लिया, जिसका कॉपीराइट उन्हें 1982 में मिला.

‘हफिंगटन पोस्ट’ की रपट के मुताबिक, किसी भी सॉफ्टवेयर आविष्कार की सुरक्षा के लिए उस वक्त कॉपीराइट पेटेंट के समतुल्य था.

उत्कृष्ट कार्य के लिए अय्यादुरई ने 1981 में हाई स्कूल सीनियर्स का वेस्टिंगहाउस साइंस टैलेंट सर्च पुरस्कार जीता.

ई-मेल कॉपीराइट का आधिकारिक नोटिस अब अमेरिका के स्मिथसोनियन इंस्टीट्यूशन नेशनल म्यूजियम ऑफ अमेरिकन हिस्ट्री (एसआईएनएमएएच) में है.

हालांकि, ई-मेल बनाने का अय्यादुरई का दावा विवादों में रहा है, क्योंकि कई अन्य लोगों ने भी इसका दावा किया था.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: washington_email
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Email prize school software Washington
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017