यमन के खिलाफ युद्ध में शामिल नहीं होगा पाकिस्तान

By: | Last Updated: Saturday, 11 April 2015 4:06 AM
Yemen conflict: Pakistan rebuffs Saudi coalition call

फ़ाइल फ़ोटो: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की संसद ने यमन में हुथी विद्रोहियों के खिलाफ सैन्य अभियान में शामिल होने के सउदी अरब के आह्वान को खारिज करते हुए कहा कि इस मामले में इस्लामाबाद को तटस्थ रहना चाहिए. सउदी अरब ने पाकिस्तान से कहा था था कि वह यमन में हुथी व्रिदोहियों के खिलाफ 10 देशों की ओर से चलाए जा रहे संयुक्त अभियान के लिए सैनिक, विमान और युद्धपोत मुहैया कराए.

 

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने सांसदों से सलाह मांगी थी. बीते सोमवार को संसद का संयुक्त सत्र बुलाया गया था और यमन के हालात एवं सउदी अरब के आग्रह पर चार दिनों तक चर्चा की गई. इसके बाद सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया.

 

प्रस्ताव में कहा गया है, ‘‘पाकिस्तान को इस संघर्ष में तटस्थता बरतनी चाहिए ताकि वह इस संकट को खत्म करने में अतिसक्रिय राजनयिक भूमिका निभा सके.’’ संसद में पारित प्रस्ताव का मतलब यह हुआ कि पाकिस्तान अब यमन के भीतर युद्ध का हिस्सा नहीं बनेगा.

 

पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री शरीफ ने कहा था कि यमन में सैन्य अभियान में शामिल होने के लिए संसद का समर्थन जरूरी है. बहरहाल, प्रस्ताव में यह भी कहा गया है कि पाकिस्तान को सउदी अरब की क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए रियाद के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहने चाहिए. इसमें सउदी अरब के प्रति पूरा समर्थन व्यक्त किया गया है.

 

पाकिस्तानी संसद से पारित प्रस्ताव में कहा गया है, ‘‘हरमैन शरिफैन (दो पाक मस्जिदों) को कोई खतरा होने अथवा सउदी अरब की क्षेत्रीय अखंडता के किसी उल्लंघन की स्थिति में पाकिस्तान सउदी अरब और वहां के लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा होगा.” सांसदों ने यमन के संबंधित पक्षों का आह्वान किया कि वे मतभेदों को शांतिपूर्ण ढंग से और बातचीत के जरिए दूर करें.

 

प्रस्ताव में यमन में बिगड़ते हालात को लेकर चिंता जाहिर करते हुए कहा गया है कि यह संघर्ष फैल सकता है और पूरे क्षेत्र को अस्थिर सकता है. पाकिस्तानी संसद में वित्त मंत्री इसहाक डार ने प्रस्ताव पेश किया. इस प्रस्ताव में कहा गया है कि सरकार को यमन में तत्काल संघर्ष विराम सुनिश्चित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र और इस्लामिक सहयोग संगठन का रूख करना चाहिए.

 

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों का अनुमान है कि यमन में मार्च महीने से तेज हुए संघर्ष में 560 से अधिक लोग मारे गए हैं.

World News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Yemen conflict: Pakistan rebuffs Saudi coalition call
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017